Data Structure Algorithm क्या हैं?

Data Structure Algorithm क्या हैं? 

Definition of Algorithm (एल्गोरिथम की परिभाषा):

किसी programming problem को हल करने के लिए उसके step by step solution को ही algorithm कहते हैं। Algorithm में किसी programming problem के logic को सरल एवं समझने योग्य भाषा मे लिखा जाता है। Algorithm को Flow Chart, Pseudo code या step method के द्वारा लिखा जा सकता है इसे लिखने के लिए निम्नलिखित keywords (commands) का प्रयोग करते हैं:

1. Read                    –   Data input कराने के लिए।

2. Write                   –   Data output कराने के लिए।

3. If…. Then            –   Condition के अनुसार निर्णय लेने

                                    एवं कार्य करने के लिए।

4. If…. Then…Else  –   Condition के अनुसार निर्णय लेने 

                                     एवं कार्य करने के लिए।

5. Repeat…Until     –    Condition के अनुसार एक ही 

                                     कार्य को बार-बार करने के लिए।

6. Repeat…. For…   –    Condition के अनुसार एक ही 

                                      कार्य को बार-बार करने के लिए।

7. Return                 –    Procedure/function से value 

                                      return कराने के लिए।

8. Exit                     –    Algorithm का अंत कराने के लिए।

Data Structure-Algorithm क्या हैं?

Rules for Writing Algorithms (एल्गोरिथम लिखने के नियम):

1. Name of Algorithm:

Algorithm को एक नाम दिया जाना चाहिए जिससे यह स्पष्ट हो जाए कि उसे समस्या के समाधान के लिए जा रहा है।

2. Introductory Comments:

Algorithm में प्रयोग होने वाले variable के लिए उससे संबंधित टिप्पणी लिखा जाना चाहिए कि वे किस कार्य के लिए प्रयोग किए जा रहे हैं।

3. Steps:

Algorithm को निश्चित steps में लिखा जाना चाहिए जिसमें एक ये एक से अधिक कार्यो को लिखा जा सकता है। इसके प्रत्येक step का एक स्पष्ट अर्थ (clear meaning) होना चाहिए जिससे यह ज्ञात हो कि प्रत्येक step का परिणाम क्या होगा।

4. Comments:

Algorithm के प्रत्येक कठिन steps के लिए उससे संबंधित comments लिखा जाना चाहिए जिससे बाद में उसे समझने में कोई कठिनाई न हो।

5. Helpful:

Algorithm के प्रत्येक step को इस प्रकार होना चाहिए जिससे किसी भी दूसरे व्यक्ति के द्वारा पेंसिल ओर पेपर की सहायता से इसे आसानी से हल किया जा सके।

6. Termination:

Algorithm का start और end स्पस्ट होना चाहिए। इसे एक बार start होने के बाद निश्चित steps के पश्चात अनिवार्य रूप से end होना चाहिए।

Advantages of Algorithms (एल्गोरिदम के लाभ):

1. Easy to Understand:

Algorithm की सहायता से किसी समस्या के हल को सरल तरीके प्रस्तुत किया जा सकता है जिसे समझना एवं उपयोग करना वास्तविक program की अपेक्षा आसान होता है।

2. Effective Analysis:

Algorithm की सहायता से किसी भी program को बनाने से पहले उसका प्रभावशाली तरीके से विश्लेषण कर program की जटिलता को आसानी से समझा जा सकता है।

3. Effective Coding:

किसी समस्या का algorithm दिया गया हो तो इससे program को आसानी से लिखा जा सकता है अर्थात algorithm को program में बदलना बहुत आसान होता है।

4. Program Documentation:

Algorithm की सहायता से program का documentation आसानी से तैयार किया जा सकता है। Documentation में किसी program के logic एवं कार्य करने के तरीके का विस्तृत वर्णन होता है।

5. Systematic Testing:

किसी program को test करने में algorithm का उपयोग किया जाता है। यदि program में error है तो इसे algorithm की सहायता से पता कर सुधारा जा सकता है।

Disadvantages of Algorithms (एल्गोरिदम के नुकसान):

1. Time Consuming:

किसी algorithm को लिखने में बहुत समय और परिश्रम लगता है। किसी जटिल program का algorithm लिखना और भी कठिन होता है।

2. Difficult Modification:

यदि program की logic में किसी प्रकार का परिवर्तन किया जाता है या program में नई विशेषता को जोड़ा जाता है तो इसके अनुसार algorithm में परिवर्तन करना कठिन होता है।

3. No Standard Rule:

Algorithm को लिखने का कोई मानक नियम नहीं होता है। इस कारण एक ही समस्या को हल करने के लिए अलग-अलग व्यक्तियों द्वारा अलग-अलग तरीके से algorithm लिखा जाता है जिन्हें समझना कठिन होता है।

 

Data Structure Algorithm क्या हैं? 

आपने इस ब्लाक के माध्यम से क्या सींखा:

  • Algorithm क्या हैं? 
  • Definition of Algorithm:
  • Rules for Writing Algorithms: Name of the algorithm, Introductory comments, Steps, Comments, Helpful, Termination.
  • Advantages of Algorithms: Easy to Understand, Effective Analysis, Effective coding, Program Documentation, Systematic Testing.
  • Disadvantages of Algorithms: Time Consuming, Difficult Modification, No standard rule,

Friends, मैं पूरी कोशिश करता हु की इन Post के माध्यम से आपको जो संदेह करना पूरी तरह से clear हो जाये फिर भी आप को सुझाव देना चाहते हैं तो इसके लिए आप comment box के माध्यम से दे सकते हैं।

Friends मुझे पूरी उम्मीद है कि ये पोस्ट आपको जरूर पसंद आई होगी और मुझे खुसी है कि मैं आपके लिए कुछ का जानकारी इस ब्लॉग के माध्यम से दे सका और इसी प्रकार किसी बारे में जानकारियां प्राप्त करना हैं तो इसके लिए आप comment box के माध्यम से दे सकते हैं Post अच्छी लगी तो इसे दोस्तो के Share जरूर करें धन्यवाद।

Leave a Comment