Register Memory क्या हैं ? [Types of Register Memory In Hindi]

Register Memory क्या हैं ?Types of Register Memory In Hindi

Register Memory क्या हैं?

Register computer के प्रोसेसर का एक भाग होता है जिनका कार्य तेजी के साथ
प्रोसेसर को data उपलब्ध कराना होता है। Register उन data या निर्देशों को रखता
है जिस पर तुरंत कार्य करना रहता है या होता है। 

Register Memory एक समय मे किसी डाटा के केवल एक भाग की ही रखता है। इसमें
डाटा का transfer और प्राथमिक storage में डाटा in या out एक high speed
operation के साथ होता है। वास्तव में रजिस्टर का आकार और रजिस्टर की संख्या
कंप्यूटर की speed को निर्धारित करने में मदद करता है।

Register Memory क्या हैं

Register Memory क्या हैं ?

यह मेमोर एक प्रकार से high speed मेमोरी होती है जो कम्प्युटर के प्रोसेस के
दौरान निर्मित होती है यह वर्तमान में प्रोसेस हो रहे डाटा इसी प्रकार निर्देशों
व परिणामों को store करके रखने का कार्य करता है। रजिस्टर मेमोरी अन्य प्रकार कि
मेमोरी की तुलना सबसे तेज और सबसे कम स्टोरेज क्षमता रखता है। इसकी storage
क्षमता 8bit, 16bit, 32bit, और 64bit की हो सकती है। 

यह रजिस्टर मेमोरी computer के लिए बहुत ही महत्वपुर्ण मेमोरी होती है और
computer की processing इसी पर निर्भर रहति है जिस क्षमता की रजिस्टर मेमोरी लगी
होती उसी आधार पर कम्प्युटर अधिक processing क्षमता से कार्य करती है।

इनमे कुछ प्रमुख Register जिनका उपयोग किये जाते हैं उनका नाम निम्न-लिखित हैं:

Types of Register Memory (रजिस्टर मेमोरी के प्रकार)

(1)Memory Address Register (MAR)
(2)Instruction Register (IR)
(3)Address Register (AR)
(4)Accumulator (AC)
(5)Program Counter (PC)
(6)Memory Buffer Register (MBR)


(1)Memory Address Register (MAR):

यह Register डाटा या instructor के address को रखने का काम करता है। निर्देश के
execution के दौरान ही मेमोरी से data या instruction को access करने का कार्य यह
Memory Address register करता है। उदाहरण के लिए यदि CPU को मेमोरी से पढ़ने
अथार्त read करने का कार्य या उसमें (write) लिखने के लिए किसी डाटा की
आवश्यकता है तब वह MAR के आवश्यक मेमोरी location पर address को रखता है। इस
रजिस्टर का use  मेमोरी की addressing के लिए किया जा सकता है। ये register
information के उस address को रखने का कार्य करता है जहाँ से वह आ रहा होता है और
जहाँ उसे store होना होता है। सामान्य भाषा में कहे तो यह मेमोरी से रीड किए
डेटा के Address को store करके रखता है।

(2)Instruction Register (IR):

Process के दौरान किसी दिए गए समय मे केवल एक ही instruction को execute करता है।
यह रजिस्टर उस instruction को control unit अर्थात नियंत्रण कक्ष में जाने से
पहले संग्रहित करके रखता है। सामान्य भाषा में कहे तो यह मेमोरी एक्जिक्यूट होने
वाले निर्देश को store करके रखता है।

(3)Address Register (AR):

यह register memory addressing के साथ conjunction में भी use होता है। जो
पहला type होता है अर्थात MAR basically किसी भी data के memory address को
तब तक store करके रखा जाता है जब वह या तो memory से load होने का कार्य
होता है या memory में store होने का कार्य होता है। ओर जबकि AR(Address
Register) storage जब तक किसी डाटा की आवश्यकता होती रहती है तब तक उसके
location के address को hold करके रखने का कार्य करता है।

(4)Accumulator (AC): 

यह ALU के अंतिम processing के दौरान के रिजल्ट को स्टोर करके रखने के लिए कार्य
में आता है।

(5)Program Counter (PC):

Program counter को ही Intel X86 Processor के लिए इसे पहले Instruction
Pointer कहा जाता था। कुछ स्थिति में इसे Instruction address register या
processor register भी कहा जाने लगा। यह एक प्रकार से hardware memory
device है जो कि execution के दौरान current instruction के location को दर्शने
का कार्य करती है।

      यह 8085 processor के लिए एक 16 bit का स्पेशल कार्य
के लिए register के रूप में use होती है। जब microprocessor के द्वारा किसी
information एक्सीक्यूट किया जा रहा होता है तब  information के
अगले memory address के track को रखता है।

(6)Memory Buffer Register (MBR):

यह रजिस्टर MAR के द्वारा निर्धारित किये गए मेमोरी location की एक कॉपी
रखता है। जिसे किसी डाटा को ‘read’ या ‘write’ करते time use  किया जाता है
अर्थात यह register, memory में आ रहे या मेमोरी से जा रहे data एवं instruction
को store करके रखने का कार्य करता है। सामान्य भाषा में कहे तो यह
मेमोरी से रिड किए गए डेटा को store करके रखता है।

Memory क्या हैं?

यह इनपुट डिवाइस की सहायता से प्राप्त निर्देश को कंप्युटर में स्टोर करके रखने
का कार्य यह मेमोरी का होता है इसे कंप्युटर की याद्दाश भी कह सकते है। इसे दुसरे
शब्दो में कहे तो वह स्थान जहा सभी सूचनाओं या निर्देंशो को आकडों के रूप में
क्रम से संग्रहीत करके रखा जाता है Memory कहलाता हैं। जिस प्रकार मानव के पास
कुछ बातों को याद रखने हेतु उनके पास मष्तिस्क होती है, उसी प्रकार से मेमोरी भी
होती हैं। यह CPU का अभिन्न अंग होती है, यह एक प्रकार से संग्राहक उपकरण हैं।


Hello Friends मैं आपके लिए
रजिस्टर मेमोरी के बारे में बहुत ही डिटेल में जानकारी दि गयी है और उनके टाइप के
बारे में जानकारीया दि गयी है   तो friends का उम्मीद है कि इस पोस्ट के माध्यम से और बहुत से जानकारी
मिली होगी और आपके मन में जो सवाल थे उनका जवाब भी मिल गया होगा।

Friends, मैं पूरी कोशिश करता हु की इन Post के माध्यम से आपको जो संदेह करना
पूरी तरह से clear हो जाये फिर भी आप को सुझाव देना चाहते हैं तो इसके लिए आप
comment box के माध्यम से दे सकते हैं।

Friends मुझे पूरी उम्मीद है कि ये पोस्ट आपको जरूर पसंद आई होगी और मुझे खुसी है
कि मैं आपके लिए कुछ का जानकारी इस ब्लॉग के माध्यम से दे सका और इसी प्रकार किसी
बारे में जानकारियां प्राप्त करनी हो तो comment box के मध्यम से जरूर बताएं
जिससे वे जानकारियां मैं आपके लिए ले सकू धन्यवाद ।

1 thought on “Register Memory क्या हैं ? [Types of Register Memory In Hindi]”

Leave a Comment