Types of Computers in Hindi [Classification of Computer]

Types of Computers in Hindi [Classification of Computer]

Computer क्या है?

Computer एक programmable electronic machine है जो हमारे निर्देंशो के अनुसार कार्य करती हैं। Computer, input के रूप में data और निर्देशों को लेकर कर उस पर processing करता है। Computer शब्द ‘Compute’ शब्द से बना है अर्थात ‘गणना करना’ होता है लेकिन आज के समय में कंम्युटर गणना (Calculation) करने के साथ-साथ संगणना (Processing) करने वाली मशीन के रूप में जाननें लगे हैं जो बिल्कुल सही है यह संगणना (Processing) करने वाली मशीन है

अभी के समय में बहुत से कार्य कंप्युटर की सहायता से घर बैठे ही कार्य कर सकते है इसके लिए कंप्युटर को network  से Connect किया जाता हैं जिससे बहुत से कार्याें को घर बैठे ही कर सकते हैं जैसे- Bill Payment, Banking, Online Chatting, Video Conference, Shopping, Ticket Booking आदि कार्य भी घर बैठे ही किए जाते है इसी प्रकार Computer की सहायता से बहुत से लोग अपने डाटा का स्टोर रखने के लिए करते है और Movie, Games, Music, Internet में Searching, Downloading इत्यादि इसी प्रकार   का उपयोग बहुत से कार्यों को करने के लिए करते हैं।

Type of Computer / Classification of Computer

Type of Computer / Classification of Computer:

Computer को विभाजित करने के लिए समय समय पर अलग-अलग Criteria निर्धारित किये जाते रहे हैंComputer को तीन आधारों पर ऊपर diagram के अनुशार बाँटा जा सकता है:

  • Based on Mechanism
  • Based on Purpose
  • Based on Size

Based on Mechanism:

कार्यप्रणाली को देखते हुए इन्हें तीन प्रकारों में वर्गीकृत किया जा सकता है:

(1).Analog Computer

Analog कंप्यूटर वे कंप्यूटर होते हैं जो  भौतिक मात्राओं (Physical quantities) जैसे- Length, Height, Temperature, Presser आदि को मापकर उनके परिणाम अंको में व्यक्त करते हैं। ये Computer किसी राशि का परिणाम तुलना कर उनके आधार पर देते हैं उदाहरण के लिए- थर्मामीटर। Analog Computer का उपयोग मुख्यतः विज्ञान और इंजीनियरिंग के क्षेत्र में उपयोग किये जाते हैं इसका कारण इन क्षेत्र में मात्राओं का अधिक उपयोग होता है।

Analog Computer

ये Computer लगातार दिए गये मान पर कार्य करते हैं। इसका output समान्यतः मान के नजदीक होता है। इसका उपयोग वैज्ञानिक एवं औद्योगिक एप्लीकेशन में किया जाता है। इसका उपयोग भौतिक मान जैसे: Speed, Pressure, Voltage, Temperature इत्यादि के लिए किया जाता है।

Analog Computer की निम्न विशेषताएं होती हैं:

  1. इस computer की गति तेज गति होती हैं
  2. इसका मान विश्वसनीयता  नही होता है।
  3. इन्हें digital computer को आधार मानकर बनाया गया है।
  4. ये उपयोग एवं चलाने में कठिन होते हैं।
  5. इनका विकास तेजी से हुआ।
  6. इसमें बहुत ही कम memory होती है।

(2).Digital Computer

Digital Computer में Digit का अर्थ ‘अंक’ होता है अर्थात वह कंप्यूटर होता है जो अंको की गणना करता है। Digital Computer जो business को चलाते हैं तथा Office, School, Railway, Banking, collage और घरों में इसके साथ अन्य सभी जगहों पर उपयोग में लाये जाते हैं। वास्तव में जब हम Computer की बात करते हैं तो हमारा अर्थ Digital Computer से होता है। 

Desktop, Laptop, Tablet, Smartphone आदि Digital computer के उदाहरण होते हैं। Digital Computer वे computer होते है जो digital data जैसे: number पर कार्य करते हैं। यह binary number का उपयोग करता है इसमें दो अंक ‘0’ एवं ‘1’ होते हैं। Digital computer में digital circuit का प्रयोग करने के लिए design किया जाता है।

Digital Computer

Digital computerकी निम्न विशेषताएं होती हैं:

  1. इसका उपयोग करना आसान होता है।
  2. यह कंप्यूटर विश्वनीयता।    होता है।
  3. इस computer में बहुत बड़ी मेमोरी लगी होती है।
  4. इस computer के अनेक रूप होते हैं जैसे super computer, mainframe computer, mini computer एवं micro computer.

(3).Hybrid Computer

इस प्रकार ले Computer में analog एवं digital दोनों प्रकार के computer के गुण होते हैं। इसका मुख्य रूप से उपयोग जटिल मशीन एवं भौतिक प्रक्रिया के automatic होने का निर्धारिण करने के लिए करते हैं। Digital components का कार्य तार्किक गणनाओं को करना होता है एवं analog components का कार्य अंतर समीकरण को हल करना होता है।

इस प्रकार का मिला जुला computer बनाने का उद्देश्य यह होता है की इसमें दोनों प्रकार के computer के गुण का लाभ लेना होता है इसलिए इससे दोनों प्रकार के गणनाओं का विकल्प प्राप्त होता है। जब हम कोई जटिल गणना या किसी समीकरण को हल कर रहे हैं तो उस स्थिति में hybrid computer अधिक तेजी से कार्य करेगा।

Hybrid Computer

Hybrid Computer की निम्न विशेषताएं होती है:

  1. इस computer से विश्वसनीय एवं सटीक परिणाम प्राप्त होते हैं।
  2. ये computer तेजी एवं तीव्र गति से कार्य करने वाले होते हैं।

Based on Purpose:

Computer के उद्देश्य के आधार पर दो भागों में special purpose और  General Purpose में वर्गीकृत किया गया है:

(1).General Purpose

General Purpose Computer ऐसे कंप्यूटर होते हैं जिन्हें सामान्य उद्देश्य हेतु तैयार किये जाते हैं। इन कम्प्यूटरों में बहुत से कार्यो को करने की क्षमता होती है। इनमे CPU की क्षमता और कीमत कम होती है। इन Computers का उपयोग सामान्य कार्यो को करने जैसे: पत्र तैयार करना, दस्तावेज तैयार करना, डॉक्यूमेंट को प्रिंट करना आदि कार्यो के लिए किया जाता है।

(2).Special Purpose

Special Purpose Computer वे कंप्यूटर जिन्हें विशेष कार्यो के लिए तैयार किया जाता है इनमें CPU की क्षमता उनके कार्यो के अनुरूप होती है जिनके लिए तैयार किया गया होता है। जैसे- अंतरिक्ष विज्ञान, कृषि विज्ञानं ,चिकित्सा, यतायात नियंत्रण, उपग्रह संचार, अनुसन्धान एवं शोध, मौसम विज्ञानं आदि इस प्रकार इनके  अनुशार इस कंप्यूटर पर विशेष हार्डवेयर है।  

Based on Size:

(1). Micro Computer/Personal Computer

Micro Computer वे कंप्यूटर होते है जिसमें एक Microprocessor लगा होता है। इस कंप्यूटर में सामान्य रूप से एक ही व्यक्ति काम कर सकता है इस कारण इसे Personal Computer(PC) भी कहा जाता है। इसके अंतर्गत बहुत से Computer आते हैं डेस्कटॉप, टेबलेट, स्मार्टफोन, लैपटॉप इत्यादि आते हैं जिनकी कीमत 5 हजार से लेकर 2 लाख तक हो सकती है। इसकी क्षमता व आकर में छोटे computer होते हैं। इसका आकार इतना छोटा होता है कि इसको हम एक Briefcase में या Table पर रख सकते हैं। 

ये computer लगभग सभी कार्य करने की क्षमता रखते हैं। इसका प्रयोग व्यपार, स्कूल, कॉलेज, घर, आफिस में किया जा सकता है। दुनिया का सबसे पहला Micro Computer, Altair-8800 था। वर्तमान में microcomputer का उत्पादन दो कंपनीस के द्वारा किया जाता है पहला IBM (International Business Machine) एवं दूसरा Apple, IBM पर computer को Pentium Microprocessor का उपयोग किया जाता है जबकि apple के computer में Macintosh का उपयोग होता है।

Personal Computer या Micro Computer को निम्न प्रकारों में विभाजित किया जा सकता है आज Different size व capacity के computer बाजार में उपलब्ध है। Computer को size व capacity के आधार पर निम्न भागो में बाँटा गया है:

(a) Desktop Computer 

Desktop Computer जिन्हें सामान्य भाषा मे डेस्क के ऊपर रख कर चलाया जाता है वे डेस्कटॉप कंप्यूटर कहलाता है। यह Personal Computer में सबसे ज्यादा उपयोग होने वाला Computer होता है। इसमें एक-एक CPU, Monitor, Key-board एवं Mouse कनेक्ट होते हैं जिन्हें कनेक्ट करने हेतु तरह-तरह के केबल का प्रयोग होता है। इन Computer की कीमत 20 से 30 हजार तक हो सकती है। इनमे कमी यह होती है कि ये पोर्टेबल नही होते है अर्थात इन कंप्यूटर को एक जगह से किसी दूसरी जगह आसानी से नही ले जाया जा सकता है।

Desktop Computer

(b) Laptop/Notebook Computer

Laptop Computer वे Computer होते हैं जिन्हें हम अपने गोद के ऊपर में रखकर चलाया जा सकता है Laptop computer कहलाते हैं। ये कंप्यूटर वजन में लगभग 1 किलोग्राम से लेकर 3 किलोग्राम तक हो सकते हैं। और ये आकार में डेस्कटॉप कंप्यूटर की तुलना में छोटे होते हैं लेकिन कीमत में ये डेस्कटॉप कंप्यूटर के बराबर या उससे महंगे होते हैं। इनकी कीमत लगभग 20 से 60 हजार तक हो सकता है। इसके अंदर वे सारे कॉम्पोनेंट्स और पार्ट्स का इस्तेमाल होता है जो डेस्कटॉप कंप्यूटर में होता है। 

Desktop Computer में जिस प्रकार सभी parts अलग-अलग होती है उनको cable के माध्यम से जोड़ा जाता है वही Laptop में सभी चीजें एक साथ असेंबल होती है। जैसे सी.पी.यू., की-बोर्ड, मॉनिटर, माउस आदि। जो लोग एक जगह रहकर काम नही कर सकते उनके लिए laptop बहुत ही फायदेमंद होता है जिनको अक्सर एक शहरों से दूसरे शहरों में जाना होता है इसका कारण laptop का पोर्टेबल होना है। 

Laptop Computer को नोटबुक भी कहा जाता है। समान्यतः Laptop व Notbook में किसी प्रकार का अंतर नही होता। लेकिन कई Company लैपटॉप को नोटबुक के मुकाबले में क्षमता और आकार में अधिक बड़ी, महंगी व पावरफुल बनाती है।

Laptop/Notebook Computer

(c) Palmtop Computer

ऐसे Computer जिनको हम अपने हथेलियों के ऊपर रखकर चलते हैं Palmtop Computer कहलाते हैं। Palmtop सबसे अधिक पोर्टेबल वाले कंप्यूटर होते हैं। इसे हम अपने पॉकेट में रख सकते हैं जिसके कारण इन्हें पॉकेट कंप्यूटर भी कहा जाता है। 

पामटॉप कंप्यूटर की क्षमता डेस्कटॉप व लैपटॉप से कम होती हैं लेकिन आज के समय मे हर व्यक्ति के पामटॉप कंप्यूटर होता है। Palmtop Computer आकर व वजन बहुत कम होते हैं और इसकी कीमत 5 हजार से 60 हजार तक हो सकती है। यह Palmtop Computer कई प्रकार से हो सकते हैं जैसे- Tablet, Smart Phone, PDA आदि।

Palmtop Computer

(2) Mini Computer:

Mini Computer माध्यम आकर के होते हैं और Micro Computer की तुलना में मिनी कंप्यूटर की कार्यक्षमता अधिक होती है साथ ही कीमत में भी माइक्रो कंप्यूटर से अधिक होती है। इन कंप्यूटर को व्यक्तिगत रूप में नही खरीद सकते हैं। इन्हें छोटे और मध्यम आकार की company प्रयोग में लाती है। Mini Computer पर एक साथ एक से अधिक व्यक्ति कार्य कर सकते हैं। 

Mini computer में एक से अधिक CPU लगे होते हैं। इस कंप्यूटर की speed माइक्रो कंप्यूटर से अधिक व मेनफ़्रेम कंप्यूटर से कम होती है। इस कंप्यूटर का उपयोग बैंक में बैंकिंग के लिए, यातायात में यात्रियों के आरक्षण के लिए, कर्मचारियों के वेतन के लिए पेरोल तैयार करना, वित्तीय खातों के रख रखाव करने के लिए आदि कार्यो के लिए उपयोग में लाया जाता है। सबसे पहला Mini Computer PDP-8 एक रेफ्रिजरेटर के आकार का था जिसकी कीमत 18000 डॉलर था।

Mini Computer

Mini Computer मध्यम आकार का होता है और Mainframe computer की अपेक्षा धीमी गति से कार्य करता है। इसमें बहुत सारे input/output device एक ही CPU से जुड़े होते हैं तथा बहुत सारे user इसमें काम कर सकते हैं। मध्यम आकार के company में mini computer उपयोग माने जाते हैं क्योंकि प्रत्येक कर्मचारी के लिए अलग-अलग लगाना महंगा पड़ता है जिसके लिए एक से अधिक terminal को mini computer से जोड़कर एक साथ कार्य किया जा सकता है। इसकी कीमत mainframe computer से बहुत कम होती है। इसका उपयोग distributed computer में किया जाता है।

Mini Computer का उपयोग समान्यतः निम्नलिखित कार्यो में किया जाता है:

  1. कर्मचारियों के payroll तैयार करने के लिए किया जाता है
  2. वित्तीय खातों के रख रखाव के लिए किया जाता है।
  3. बिक्री विश्लेषण हेतु किया जाता है।
  4. उत्पादन विश्लेषण हेतु किया जाता है।
  5. लागत विश्लेषण के लिए किया जाता है।

Micro VAX, PAP1, IBM OS/400 कुछ Mini computer के उदाहरण है।

(3) Mainframe Computer

Mainframe Computer मिनिकंप्यूटर से कुछ अधिक क्षमता व गति वाल कंप्यूटरे होते हैं। ये कंप्यूटर आकर में बहुत बड़े होते हैं। इसमें अत्यधिक मात्रा के data पर तीव्रता से process करने की क्षमता होती है। इसलिए इनका उपयोग बड़ी company, bank, Railway आरक्षण, सरकारी विभाग द्वारा किया जाता है। Mainframe Computer चौबीस धंटे कार्य कर सकता है साथ ही सैकड़ो user एक साथ काम कर सकता है। 

अधिकतम कंपनी में Mainframe Computer का उपयोग उपभोक्ताओं द्वारा खरीदी व भुकतान का ब्यौरा रखने, बिल भेजने, नोटिस भेजने, टैक्स का वित्तत ब्यौरा रखने, कर्मचारियों का वेतन बनाने के लिए किया जाता है। IBM company के Mainframe Computer बहुत प्रचलित है जिसमे से कुछ IBM System 360 Series, IBM Z Series आदि है।

Mainframe Computer

Mainframe Computer बहुत बड़ा और fast चलने वाला computer होता है, लेकिन super computer की अपेक्षा छोटा और धीमा होता है। इन computer की संग्रह क्षमता बहुत ही अधिक होती है इसके सहायता से अधिक मात्रा में स्टोर data पर तीव्रता से कार्य किया जा सकता है इसलिए इसका उपयोग उन स्थानों पर अधिक किया जाता है जहाँ बहुत बड़े पैमाने में data को रखा जाता है और उसमें तेजी से process किया जाना होता है अर्थात इस प्रकार के computer का उपयोग केंद्रीयकृत जगह में किया जाता है।

जहाँ बहुत सारे computer (terminals) एक ही processing unit से जुड़े हुए होते हैं और अलग-अलग users एक single processing unit से सूचनाओं का आदान-प्रदान करते हैं। इसमें एक ही समय मे हजारों user कार्य कर सकते हैं। इसमें server operating system का उपयोग किया जाता है।

Mainframe Computer का उपयोग निम्न क्षेत्रों में होता है:

  1. Railway and Airline Reservation System.
  2. Banking के क्षेत्र में उपयोग होता है।
  3. बड़ी-बड़ी औद्योगिक company में वाणिज्यिक अनुप्रयोग में होता है।

IBM 4381, IBM ES 9000, IBM 3090, IBM 4300 कुछ mainframe computer के उदाहरण हैं।

(4) Super Computer:

Super Computer सबसे शक्तिशाली कंप्यूटर होते हैं। ये सर्वाधिक क्षमता व गति वाले होते हैं साथ ये आकर में बहुत बड़े व बहुत महंगे होते हैं। इसमें हजारो CPU समांतर क्रम में लगे होते हैं तथा हजारो व्यक्ति एक साथ कार्य कर सकते हैं। Super Computer का प्रयोग बड़े वैज्ञानिक और शोध प्रयोगशालाओं में शोध कार्यों के लिए होता है। और अंतरिक्ष यात्रा के लिए अंतरिक्ष यात्रियों को अंतरिक्ष मे भेजना, मौसम की भविष्यवाणी करना, उच्च गुणवत्ता वाले Animation वाले चित्रों का निर्माण करना। 

इन सभी कार्यो में की जाने वाली गणना व प्रक्रिया जटिल व उच्चकोटि की शुद्धता वाली होती है जिन्हें केवल Super Computer ही कर सकता है। दुनिया का सबसे पहला Computer, Cray XMP था। वर्तमान में दुनिया का Sunway taihulight सबसे शक्तिशाली Super Computer है जिसे चीन द्वारा निर्माण था। 

Super Computer

यह बड़ा और तेजी से कार्य करने वाला computer होता है जिसका उपयोग कठिन वैज्ञानिक उपयोग में किया जाता है। इसमे बहुत सारे central processing unit होते हैं जो समानांतर कार्य करते हैं, जिससे कंप्यूटर की speed बढ़ती है। यह बहुत अधिक कीमत वाला होता है अर्थात इसकी कीमत अरबो में होती है। PARAM super computer का निर्माण भारत मलके पुणे स्थित C-DAC द्वारा किया गया था, जिसका विकसित रूप PARAM-10,000 भी तैयार कर लिया गया है।

मुख्य उपयोग निम्न क्षेत्रों में किया जाता है:

  1. मौसम संबंधित जानकारी के लिए
  2. Petroleum उत्पादों के लिए।

Types of Computers in Hindi (कंप्यूटर के प्रकार)

हमने क्या-क्या सीखा आइये जानते हैं:
  1. Computer क्या है?
  2. Types of Computer: Based on Mechanism, Based on Purpose, Based on Size.
  3. Classification of Computer: Based on Mechanism, Based on Purpose, Based on Size.
  4. Based on Mechanism के बारे में: Analog Computer, Digital Computer, Hybrid Computer.
  5. Based on Purpose के बारे में: General, Special.
  6. Based on Size के बारे में: Micro Computer, Mini Computer, Mainframe Computer, Super Computer.
इसके साथ ही बहुत छोटी छोटी जानकारीया प्राप्त की हैं

Leave a Comment