What is Computer – in Hindi [Organization of Computer in Hindi]

What is Computer in Hindi [Organization of Computer]

Definition of Computer (कंप्यूटर की परिभाषा):

Computer एक programmable electronic machine है जो हमारे निर्देंशो के अनुसार कार्य करती हैं। Computer, input के रूप में data और निर्देशों को लेकर कर उस पर processing करता है उसी के अनुसार कार्य करता है और Output के रूप में हमे सूचना को उपलब्ध कराता है। यह हमारे सभी प्रकार के गणितीय व तार्किक समस्याओं को बहुत ही तीव्र गति से संम्पूर्ण शुद्धता के साथ हल करता है।”

उपर दिये गये परिभाषा से स्पष्ट होता है कि Computer एक मानव निर्मित इलेक्ट्रानिक मशीन हैं जिन्हें इनपुट के रूप निर्देश दिया जाता है उसी आधार पर कार्य करता हैं और आउटपुट के रूप में रिजल्ट उपल्ब्ध कराता हैं।

Computer क्या हैं? [Definition of Computer]

What is Computer (कंप्यूटर क्या हैं):

Computer शब्द ‘Compute’ शब्द से बना है अर्थात ‘गणना करना’ होता है लेकिन आज के समय में कंम्युटर गणना (Calculation) करने के साथ-साथ संगणना (Processing) करने वाली मशीन के रूप में जाननें लगे हैं जो बिल्कुल सही है यह संगणना (Processing) करने वाली मशीन है इसमे सभी कार्य इसी से संभव है कंप्युटर सभी प्रकार की गणना व तुलना करने का कार्य तो करता ही है इसके साथ ही संगणना जैसे- Letter, Worksheet, Graphic, Notes, Resume, Document, Data Entry, Editing, Animation इन सभी को बनाने का कार्य कंप्युटर से ही संभव हैं।

Computer in Hindi:

अभी के समय में बहुत से कार्य कंप्युटर की सहायता से घर बैठे ही कार्य कर सकते है इसके लिए कंप्युटर को network  से Connect किया जाता हैं जिससे बहुत से कार्याें को घर बैठे ही कर सकते हैं जैसे- Bill Payment, Banking, Online Chatting, Video Conference, Shopping, Ticket Booking आदि कार्य भी घर बैठे ही किए जाते है इसी प्रकार Computer की सहायता से बहुत से लोग अपने डाटा का स्टोर रखने के लिए करते है और Movie, Games, Music, Internet में Searching, Downloading इत्यादि इसी प्रकार   का उपयोग बहुत से कार्यों को करने के लिए करते हैं।

कंप्यूटर का फुल फॉर्म निम्न प्रकार से होता है:

C – Common 

O – Operating 

M – Machine 

P – Purposely 

U – Used for 

T – Technological and

E – Educational 

R – Research

Computer के मुख्य रूप से निम्नलिखित दो parts में विभाजित होते हैं:

Hardware: Computer के सभी Physical Components जिन्हें हमारे द्वारा देखा व छुआ जा सकता है Hardware कहलाते हैं दूसरे शब्दो मे कंप्यूटर में जितने भी Device लगे होते हैं वे सभी Hardware कहलाते हैंयह कई अलग अलग प्रकार के होते हैं।

Example: CPU, Monitor, Mouse, Keyboard, Printer, Cables, etc.

Software: software निर्देशों के समूह को कहा जाता है जिन्हें हमारे द्वारा छुआ नही जा सकता है किंतु Monitor screen पर चलते हुए देखा जा सकता है यह भी कई अलग अलग प्रकार के होते हैं।

Example: Windows, Android, Word, Excel, PowerPoint, Access, etc.

Organization of Computer (कंप्युटर का संगठन):

कंप्यूटर का निर्माण बहुत सारे units व devices से मिलकर होता है जो Computer के Element या Components कहलाते हैं। Computer की संरचना को देखें तो निम्नलिखित इकाई में शामिल होते हैं:

  • Input Unit
  • CPU (System Unit)
  • Output Unit
(1). Input Unit (इनपुट इकाई):

इस प्रकार के डिवाइस होते है जिनकी सहायता से हमारे द्वारा दिये गये डेटा या निर्देंशो को कंप्युटर अपने में लेता हैं अर्थात इनपुट करता हैं यह कई अलग-अलग प्रकार से हो सकते है जिनका कार्य कंप्युटर के मस्तिष्क(CPU)को निर्देशित करता है उसे क्या करना हैं और क्या नही कंप्युटर हमारे द्वारा इनपुट लेकर ही कार्य करता है यह कई अलग-अलग प्रकार से हो सकते है जिनके उद़देश्य भी अलग अलग होते हैं जैसे एक उदाहरण ले तो कि-बोर्ड एक टाइपिंग इनपुट डिवाइस है जो टायपिंग करने हेतु उपयोग होते हैं। इसी प्रकार कुछ कुछ महत्वपूर्ण Input Device निम्नलिखित है: Keyboard, Mouse, Trackball, Touch screen आदि।

(2). CPU (सी पी यु):

इसका पुरा नाम Central Processing Unit है इसे System Unit भी कह सकते हैं। इसको हिंदी में केंन्दीय संसाधन इकाई नाम लिया जाता है। यह कंप्युटर के लिए बहुत ही महत्वपुर्ण भाग होता है जिसके बिना कोई भी कार्य करना संभव नही होता। इसमें सभी प्रकार के इनपुट, आउटपुट डिवाइस को जोड़ सकते है जैसे: Monitor, Printer, Mouse, Keyboard आदि। इसे कंप्युटर का मस्तिष्क कहा जाता है जिस प्रकार मानव में मस्तिष्क होती है उसी प्र्रकार यह भी होती हैं।इसके कार्य की बात करे तो यह प्रोग्राम को  करने का काम करता हैं और सभी प्रकार के डिवाइस को नियंत्रण करने का कार्य करती हैं इसके तीन भाग होते हैं:

  1. ALU
  2. Memory
  3. CU
(1) ALU (ए.एल.यु.)

इसका पुरा नाम Arithmetic Logic Unit होता हैं यह एक प्रकार से Data पर अंकगणितीय और तार्किक क्रियाए करने का कार्य करती है। यह कंट्रोल यूनिट से निर्देश लेने का कार्य करती है साथ ही memory से data को प्राप्त करती है और उसपर processing का कार्य करती है यह कार्य पूर्ण होने पर पुनः उसे memory को वापस कर देती है यह दस लाख गड़नाओ को कुछ ही सेकंडों ने कर लेती है इसकी गति काफी तीव्र होती है। इसमे एक प्रकार से इलेक्ट्रॉनिक परिपथ लगा होता है जिनकी सहायता से ये सारे बाइनरी अंकगणितीय कुछ ही क्षणों में कर लेती है।

(2) Memory (मेमोरी)

यह वह स्थान होता जहाँ हमारे दिए गए data व निर्देशो को रखा जाता है अर्थात store किया जाता है यह computer की याददाश् होती है जिस स्थान में data को store करके रखा जाता है वह memory होती है जिस प्रकार मानव में याद रखने के लिए मस्तिष्क होती है उसी प्रकार computer के लिए मस्तिष्क (CPU) में data या निर्देशों को याद रखने के लिए memory होती है यह एक storage device है यह CPU का महत्वपूर्ण अंग होता है।

(3) CU (नियंत्रण इकाई)

CU का पूरा नाम Control Unit होता है इस control unit का कार्य Hardware के किये गए क्रियाओं को नियंत्रित और संचालित करने का कार्य करती है इसके साथ ही यह Input Output का कार्यो को भी नियंत्रित करती है यह Memory और ALU के बीच हो रहे निर्देशो के आदान प्रदान को control करने का कार्य करती है।

(3). Output Unit (आउटपुट इकाई):

Output unit का कार्य हमारे द्वारा दिये गए निर्देशों को result के रूप में show कराने का कार्य किया जाता है इसकी सहायता से ही प्राप्त किये गए निर्देशों को Display माध्यम से देख सकते हैं या फिर printe प्राप्त कर पेज के रूप में देख सकते हैं या संगीत के रूप में प्राप्त करना चाहते हैं तो इसके लिए speaker आउटपुट का use कर सुन सकते हैं output कई अलग अलग प्रकार से हो सकते हैं जैसे: मॉनिटर, Printer, Speaker आदि इनका उपयोग बहुत अधिक होता है।

Advantages of Computer in Hindi (कंप्यूटर के लाभ):

(1)Speed (गति)

कंप्यूटर की सबसे बड़ी विशेषता एक उसकी गति होती है जोकि बहुत तेज होती है यह जोड़ना, घटाना, गुणा, भाग, जैसे लाखो क्रिया को कुछ की क्षणों में करने की क्षमता रखता है। यदि में कह दिया जाए 345×234 का मान ज्ञात करो इसके लिए हमे एक या दो मिनट लगेंगे लेकिन ऐसे लाखो क्रियाओं को Computer कुछ ही सेकंडों में आसानी से कर सकता है computer की गति को Hertz से मापा जाता है।

(2) Accuracy (शुद्धता)

Computer अपने सभी कार्यो को बिना किसी प्रकार के गलतियो के करता है यदि हमें कह दी जाए कि 6 अलग अलग संख्याओं का गुणा करना है तो इसमे हम कई गलतियां करेनेगे उसके बाद ही सफल होंगे लेकिन computer किसी भी process बिना किसी गलती किये सरलता से पूरा करता है। यह अपने से कभी गलतियां नही करता अगर गलत data इनपुट दिया जाए तो यह computer गलत नही होता।

(3) Automation (स्वचालन)

आप अपने जीवन मे कई प्रकार की स्वचालित मशीनो ला use करते होंगे इसी प्रकार Computer भी अपने कार्य स्वचलित तरीके से करती है। computer अपने कार्य में program के या data के एक बार load होने के बाद कार्य को स्वतः करता है हमे उससे संबंधित निर्देश को ही देने पड़ते हैं।

(4) Versatility (बहुमुखी प्रतिभा)

Computer अपने सार्वभौमिकता के कारण से ही पूरी दुनिया मे अपनी प्रभुत्व जमा रखा है Computer को गणितीय कार्यो के साथ साथ हम इसे घरों में उपयोग कर सकते हैं और व्यवसायिक कार्यो में भी उपयोग में लाया जा सकता है computer का उपयोग हर प्रकार के क्षेत्रों में उपयोग होने लगा है जैसे: Banking, Airport, Business, Railway, Schools, college etc.

(5) High Storage Capacity (उच्च स्टोरेज क्षमता)

Computer सिस्टम बहुत ही बड़ी मात्रा में data को store करके रख सकता है इसकी storage क्षमता बहुत ज्यादा होती है इसमे लाखो शब्दो को बहुत ही कम जगहों में स्टोर करके रख सकते हैं और साथ ही साथ हम अपने सभी Data, Picture, File, Games, Video, Music, Document, Program इन सभी Data को कई वर्षों तक store करके रख सकते हैं और इसे हम कभी भी प्राप्त कर सकते हैं जिसे use में लाया जाना है।

(6) Diligence (लगन)

आज के समय मे मानव किसी कार्य को निरंतर करते हुए कुछ घंटों के बाद वह थक जाता है इसके विपरीत Computer किसी भी कार्य को कई घंटों तक कर सकता है इसकी क्षमता यह बहुत अधिक होती है कई महीनों व सालो कार्य कर सकता है। यह अपने कार्यो को बिना किसी भेदभाव के करता है इतने कार्य करने के बाद भी इसकी क्षमता में कोई बदलाव नही आता यह अपने शुद्धता के साथ ही कार्य करता है।

(7) Reliability (विश्वसनीयता)

Computer अपने कार्यो को बिना किसी गलती के और अति तीव्रता के साथ करता है आज के समय मे हमारे सभी कार्यो को कंप्यूटर करने की क्षमता रखता है अतः हम कह सकते हैं कि computer हम सब के लिए बहुत ही विश्वसनीय मशीन है हम इसपर भरोसा कर सकते हैं।

Disadvantage of Computer in Hindi (कंप्यूटर का नुकसान):

(1) Lock of Intelligence (बुद्धि का अभाव)

Computer एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जो अपने यूजर द्वारा दिये गए निर्देशों का पालन करती है यह अपने कार्यो को न तो दिए गए निर्देशो से कम करती है और नही अधिक करती है दिए गए निर्देशों के आधार पर ही कार्य करती हैं इसे हम कहे जाओ और बाजार से सब्जियां लेकर आओ तब अपने कार्य को बिल्कुल सही तरीके से बाजार जाएगा और सब्जी खरीदेगा लेकि वापस आने के लिए कोई निर्देश नही दिए जिससे वह वही रह जाता है वापस नही आता इससे हम कह सकते हैं कंप्यूटर के पास सामान्य प्रकार के बोध नही होते हैं।

(2) Lack of Self Protection (आत्म सुरक्षा का अभाव)

Computer पर नियंत्रण मानव के पास ही होता है चाहे कंप्यूटर कितना भी शक्तिशाली क्यो न हो। कंप्यूटर की बात करे तो वह आत्म रक्षा नही कर सकता उदाहरण के लिए ले तो सतीश नाम के व्यक्ति ने एक E-mail account बनाया तथा इसके open करने के  लिए एक विशेष Password भी चुना। और यदि वह Password किसी अन्य व्यक्ति को पता चल जाता है तो वह भी अपने से सतीश का E-mail account को खोल सकता है कंप्यूटर यह नही देखता है की सतीश है कि कोई और वह देखता है सिर्फ Password क्या है जिसकी सहायता से एकाउंट खोल सकते हैं।

(3) Lack of Decision Making (निर्णय लेने में कमी)

Computer में निर्णय लेने की क्षमता नहीं होता है। Computer एक बुद्धिमान मशीन नही है। यह सही या गलत की पहचान नही कर पाता है। उदाहरण के लिए यदि हम अपने काम का कोई चीज गलती से किसी व्यक्ति को फेकने के लिए दे तो वह व्यक्ति हमें निर्णय लेकर बता सकता है कि यह काम का है इसे नही फेकना चाहिए। लेकिन यदि हम अपने काम के data के Computer को delete करने का निर्देश दे तो Computer हमें सोचता नहीं बता सकता कि यह काम का है। Computer निर्देश पाते ही हमारे data को तुरंत Delete कर देगा।

Applications of Computer (कंप्यूटर के अनुप्रयोग):

Computer आधुनिक जीवन का एक महत्वपूर्ण अंग है। आज जीवन के हर क्षेत्र में Computer का अनुप्रयोग किया जा रहा है। देश के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री से लेकर एक आम आदमी तक Computer के प्रभाव से कोई अछूता नही है। Computer के कुछ महत्वपूर्ण प्रयोग निम्नलिखित है:

(1) Data Processing

बड़े और विशाल पैमाने पर Data का Processing करने के लिए और इनफार्मेशन तैयार करने के लिए Computer का उपयोग किया जाता है। इससे Data एकत्र करना और उसका विश्लेषण करना और सूचना प्राप्त करना और इसको सेंड करना बहुत आसान हो जाता है।

(2) Education

Computer के आज कल की शिक्षा की तस्वीर ही बदल दी है। आज Internet की सहायता से हम किसी भी विषय की जानकारी कुछ ही सेकंड में प्राप्त कर सकते हैं। School और Collage को भी Internet से जोड़ दिया गया है तथा कई जगहों पर smart class पर जोड़ दिया जा रहा है जो Computer की वजह से ही संभव है।

(3) Banking 

Banking क्षेत्र में तो Computer के उपयोग ने क्रांति ला दी है। पहले के जमाने के बही खाते और रजिस्टर की जगह Computer ने ले ली है जिससे की हमारा काम आसान हो गया है। Banking के अधिकांश कार्य Computer के माध्यम से ही हो रहे हैं। जैसे पैसे निकालना और जमा करना, यहाँ तक कि रुपिया गिनने के लिए भी कंप्यूटरीकृत Machine  उपलब्ध है।

(4) Communication

संचार Computer की देन है। आज हमारे पास संचार के लिए ई-मेल, चैटिंग, ऑडियो, तथा वीडियो कॉल आदि विकल्प है जिनका उपयोग हम आसानी से कर सकते है। हम दुनिया के किसी भी व्यक्ति से घर बैठ ही बातचीत कर सकते हैं। Computer तकनीक ने ही संचार के क्षेत्र में Internet के प्रयोग को संभव बनाया है और Internet ने संचार क्रांति को जन्म दिया।

(5) Recreation 

Multimedia के उपयोग ने तो Computer को बहुआयामी बना दिया है। Computer का प्रयोग सिनेमा, टेलीविजन, वीडियो गेम खेलने के लिए भी किया जाता है ये सभी मनोरंजन के आधुनिक साधन है।

(6) Governance

हम एक संस्थान में अपना एक आंतरिक प्रशासन होता है और प्रशासनिक कार्य Computer से ही किये जाते हैं। साथ ही साथ सरकारी योजनाओं का लाभ भी ई-शासन (E-governance) के रूप में आज सभी जनों के घर तक पहुच रहा है।

(7) Security

आज बिना Computer के हमारी सुरक्षा व्यवस्था बिल्कुल कमजोर हो जाएगी। एयरक्राफ्ट ट्रैक करने में, हवाई हमले करने में, CCTV Camera में Computer का उपयोग होता है।

(8) Commerce

दुकान, बैंक, बीमा, क्रेडिट, कंपनी आदि में Computer का अधिकतम उपयोग होता है। Computer के बिना काम करना वित्तीय दुनिया के लिए असंभव हो गया है। सारे हिसाब-किताब Computer में ही Manage किये जाते हैं।

(9) Industry

बहुत सारे औधोगिक संस्थान जैसे- स्टील, केमिकल, तेल कंपनी आदि कंप्यूटर पर निर्भर रहते हैं। बड़े-बड़े मशीनों को चलाने के लिए एवं उसमें कार्यो के नियंत्रण के लिए भी Computer का उपयोग करते हैं।

(10) Medicine

मेडिसिन के क्षेत्र में Computer का उपयोग विभिन्न शारीरिक रोगों का पता करने के लिए किया जाता है। रोगों का विश्लेषण करना और निदान भी Computer के सहायता से ही संभव है। आज के समय लोग एक्स रे, सिटी स्कैन, अल्ट्रासाउंड इत्यादि विभिन्न प्रकार के क्षेत्रो में Computer का व्यापार उपयोग हो रहा है।

What is Computer in Hindi [Organization of Computer]

हमने क्या-क्या सीखा जानें:

  • Computer क्या हैं?
  • Definition of Computer:
  • Organization of Computer – कंप्युटर का संगठन:
  • Hardware/Software:
  • Advantages of Computer – कंप्युटर के फायदे:
  • Disadvantage of Computer – कंप्यूटर का नुकसान:

Friends मुझे बहुत पूरी उम्मीद है कि ये पोस्ट आपको जरूर पसंद आई होगी और मुझे खुसी है कि मैं आपके लिए कुछ का जानकारी इस ब्लॉग के माध्यम से दे सका और इसी प्रकार किसी बारे में जानकारियां प्राप्त करना हैं तो इसके लिए आप comment box के माध्यम से दे सकते हैं Post अच्छी लगी तो इसे दोस्तो के Share जरूर करें धन्यवाद।

2 thoughts on “What is Computer – in Hindi [Organization of Computer in Hindi]”

Leave a Comment